Monday, December 21, 2009

अब और क्या

अभी इस संसार में जो भी उथल पुथल चल रहा है इसके जिम्मेदार कौन हैं ?शायद हम लोग ही हैं पर अभी तक किसी ने इस ओर ध्यान ही नहीं दिया है की आने वाला कल कैसा होगा ?इसका प्रारूप कैसा होगा?आज हम एक नहीं कई समस्याओं से जूझ रहे हैं उदहारण स्वरुप आबादी,मौसम का बदलाव,पर्यावरण में उठा -पटक ,लोगो का आचरण ,बीमारी,स्वार्थ ,ऐसी बहुत सारी चीज़े हैं जिससे हमारी शांति,समृधि,सुख ,विचार ,रहा-सहन में बदलाव आ गया है!सबसे ज्यादा प्रक्रिरती का उपभोग हम मानव ही कर रहे हैं इस लिए इसमें थोड़ी सी भी कमी होने पर मानव जातिका अस्तित्व खतरे में पद जायेगा इसलिए सभी अपने विचार प्रगट करें और हर संभव हल ढूँढने की कोशिश करें !आपके विचार विचारनीय होंगे और इसको अपने लाइफ में भी लागू करने की जरूरत हैं!धन्यवाद्.

जाने सैकड़ो रोगों का इलाज !

सहजन पेड़ मनुष्य के लिए किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं दुनीया का सबसे ताकतवर पोषण पुरक आहार है सहजन (मुनगा) 300 से अधि्क रोगो मे बहोत फा...