Friday, February 26, 2010

इंडिया'स क्रिकेट

I think In this time This selection Comm. is one of the worst of all time who is a very selfish and dirty people,They do not deserve to remain as a member of selection panel.There is no crieteria to get selected in Indian team and even no match to dropped.Why this is not seen by any honest person who is really professional and thinking about 140 crores of Indian emotions and feeling.I think these guy(selection comm.) must hanged to death who is destroying the Indian cricket.Manish Pandey is one of the talented guy is not getting any chance and Murli vijay who is very bad record and even zero performance get chance in every form of cricket.Abhishek nayar who deserve his place on performance basis has dropped without any chance and R Ashvin and Abhimanyu Mithun who is relative of south indian panel member and chairman get chance to remain in Indian team.It's rubbish please do some fair selection only than we remain number one in each format of cricket.

Wednesday, February 24, 2010

सचिन और धोनी की जोड़ी नंबर १

सचिन महान है और ये धोनी अच्छी तरह से जानते हैं | धोनी ने बहुत सही साथ दिया और सचिन महान के उप्पर कोई प्रेशर नही आने दिया जोकि सचिन ने खुद उस चीज़ को सराहा है |सचिन महानतम है| धोनी देश का भविष्या है जो सचिन जैसे गुरु के सानिध्या में गुर सिख रहा है आप लोग कम से कम उसमें विद्रोह ना डालिए| पिछली बार एक मैच जीताओ चौके का कारण डीएनश कार्तिक के पीछे पड़े थे और अब धोनी के पीछे!सचिन हमेशा से शतक के आसपास नर्वस हो जाते है इस वक्त तो दोहरे सतक की बात थी ऐसे मे धोनी सिर्फ़ उन्हे सतर्कता के साथ खेलने का वक्त दे रहा था बाद मे दोनो एक दूसरे की जाम कर तारीफ भी किए मगर आप जैसे लोगो को ये बाते समझ आनी चाहिए !
.do you have any single bit of knowledge about cricket। let me share, read below..... Dhoni was unthinkably brilliant. Even though the whole excitement and focus was about Sachin getting to 200, Dhoni didn't let it bother him. Rather, he used the most mature strategy. He went after the bowlers, took away their attention from Sachin, gave Sachin a breathing space, and perfectly set the stage for him to get to 200 without hiccups. In the process, also knowing Sachin won't be able to get wild, Dhoni took the burden on his shoulders to smash the bowling and get the score past 400. I thought that Dhoni bit was quite special. One doesn't expect such things from an Indian captain after Gavaskar - but one can expect it from Dhoni. कुछ पता चला , या बस सिर उठाए कुछ भी बोल दिया

Friday, February 19, 2010

क्रिटिक्स एंड अन्स्वेर्स

आजकल भारतीय क्रिकेट में इतनी पोलिटिक्स होने के बाद भी ,इतने लगातार मैच खेलने के बाद भी भारतीय क्रिकेट आज जिस मुकाम पर है उसके लिए लोग तरह - तरह के तर्क और अटकलें लगते हैं ! लेकिन इनके बाबजूद हमारे सभी ग्रेट क्रिक्केटर एक सुर में तुम्हे कहने लगे हैं की आज ये सब संभव हुआ वोह सिर्फ इसलिए की आज हमारे पास सबसे बढ़िया कूल कैप्टेन है जो एक पूर्ण रूप से बल्लेबाज के साथ -साथ समय के अनुसार अपने गेम को और टीम को प्रेरित करने वाला खिलाडी है ! सुनील गावस्कर के अनुसार "आज इंडिया टेस्ट में नंबर १ होने के साथ ही सभी फॉर्मेट में एक बड़ी शक्ति बन चूका है और इसका श्रेय टीम के सभी खिलाडी के साथ कप्तान को सबसे अधिक है !क्यूंकि इतने सीनियर और महँ खिलाडियों को लीड करना और उनके बीच सामंजस्य स्थापित करना अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है !आज तक जो भी खिलाडी कैप्टेन बना है उनका खुद का प्रदर्शन योग्यता से कम हुआ है उनमे से महेंद्र सिंह धोनी ही एक ऐसा नायाब हीरा है जो टीम को लीड खुद सामने आकर करता है ! "
दिलीप वेंगसरकर ने भी माना है की अभी भारतीय टीम अपने कुछ बेहतरीन खिलाडियों के चोटिल होने के बाबजूद बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया है और टेस्ट में नंबर १ का ख़िताब भी हासिल किया है जो आजतक संभव नहीं था! आप भी अपनी राय यहाँ लिख सकते हैं!

वास्तुशास्त्र

   अचूक उपाय : अपनाएं वास्तु के ये 9 नियम , वास्तु के इन नियमों को अपनाकर घर-परिवार में सुख, शांति और व्यापारिक संस्थानो...