Thursday, October 5, 2017

वास्तुशास्त्र



   अचूक उपाय: अपनाएं वास्तु के ये 9 नियम,

वास्तु के इन नियमों को अपनाकर घर-परिवार में सुख, शांति और व्यापारिक संस्थानों को श्रीसमृद्धि से युक्त बनाया जा सकता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार यहां दिए नियकों को अपनाएं और जीवन में सुख ऐश्वर्य का अनुभव करें।

1- स्फटिक के शिवलिंग की पूजा करें। स्फटिक असली हो तो प्रभाव में वृद्धि होगी।

2- भवन निर्माण में दरवाजे और खिड़कियां सम संख्या में हों तथा सीढ़ियां विषम संख्या में हों।

3- टॉयलेट और किचन एक पंक्ति (कतार) में या आमने-सामने होना दोषकारक है।

4- घर में गणेशजी की एक से अधिक मूर्ति हो तो कोई बुराई नहीं है, लेकिन पूजा एक ही गणेशजी की करनी चाहिए।

  5- घर के बाहर या अंदर आशीर्वाद मुद्रा में देवी-देवता की मूर्ति अथवा चित्र लगाते हैं तो ध्यान रहे कि उनका मुंह भवन के बाहर की तरफ हो। सिर्फ गणेश का मुंह भवन के भीतर होना चाहिए क्योंकि गणेश के पीछे दरिद्रता रहती है।

6- घर के ड्राइंगरूम में मोर, बंदर, शेर, गाय, मृग आदि के चि‍त्र या मूर्ति रूप में किसी एक का जोड़ा रखें। इनका मुंह एक-दूसरे की तरफ हो तथा मुंह घर के अंदर हो, शुभ रहेगा।

7- बीम के नीचे बिंदु चिप्स लगाकर बीम के दोष को दूर कर सकते हैं।

8- श्रीयंत्र को केवल पूजा घर में ही रखना चाहिए।

9- संपत्ति तथा सफलता के लिए अपने बैठक कक्ष में पिरामिड को उत्तर-पूर्व में रखें।

Uric Acid & possible treatment

यूरिक एसिड (Uric Acid) हमारे जीवन में रोगों का घर : यूरिक एसिड का बढ़ने की समस्या बडी तेजी से बढ़ रही है। आयु बढ़ने के साथ-साथ यूर...